Mother’s Day 2018, माँ का प्यार कविता

“बागों में फूल बहुत है लेकिन गुलाब एक है ,रिश्ते तो बहुत है लेकिन माँ सिर्फ एक है”

वैलेंटाइन डे सबको याद रहता है पर जिस माँ ने हमे जन्म दिया वह कोई याद नहीं रखता |

मदर्स डे हर वर्ष मई महीने के दुसरे सन्डे को मनाया जाता है|

दुनिया में आने के बाद बच्चा सबसे पहले माँ को ही पहचानता है और उसके मुह से निकलने वाला पहला शब्द भी माँ होता है | माँ का साथ जिंदगी में कड़ी धुप में शीतल छाया की तरह लगता है| माँ की महिमा क्या गाऊँ , माँ की कहानी क्या सुनाऊ , हे माँ तू है माँ  तूने हमको जन्म दिया , मिले हर जन्म में मुझे तू ही माँ |

माँ को अनेक शब्दों माँ, अम्मा,मम्मी,आई,माता,माई जेसे कई शब्दों के रूप में पुकारा जाता है |कहा जाता है की ईश्वर ने जब ये दुनिया बनाई तो वह हर जगह खुद तो नही रह सकता था इसलिए उसने माँ बनाई |

माँ का प्यार

” माँ , दुःख में सुख का अहसास है,माँ हर पल बचों के आस पास है,

माँ धन की आत्मा है ,माँ साक्षात् परमात्मा है,

माँ आरती है, माँ गीता है,

माँ ठण्ड में गुनगुनी धुप है,माँ रब का वो रूप है,

माँ धुप में छाया है, माँ आधी शक्ति महा माया है,

माँ महीनो में सावन है,माँ गंगा की तरह पावन है,

माँ पेड़ो में पीपल है, माँ फ्लो में श्रीफल है,

माँ रत्नों की माला है, माँ अँधेरे में उजाला है,

माँ निराशा में आस है, माँ जीवन का परकाश  है,

माँ कण कण में समाई है, माँ इस संसार में हम सबको लाइ है,

माँ जन्नत का फूल है, प्यार करना माँ का असूल है,

दुनिया की मोहब्बत फिजूल है, माँ की हर दुआ कबूल है,

माँ की हर दुआ कबूल है, माँ की हर दुआ कबूल है|”

love son

थोमसन एडिसन जब १२ वर्ष के थे तो उन्हें एक अपने टीचर से एक पत्र मिला | स्कूल से आते ही एडिसन ने वह पत्र माँ को देते हुए कहा माँ ये पत्र मेरे टीचर ने सिर्फ आपको देने क लिए दिया है | पत्र पड़ते ही माँ की आँखों में आंसू आ गये | एडिसन ने माँ से पूछा ” माँ , इस पत्र में क्या लिखा है?” तो माँ ने उत्तर दिया “बेटा इसमें लिखा है की आपका बेटा GENIUS है और हमारे स्कूल के टीचर इतने TRAIN नहीं है की इसे पढ़ा सके| माँ ने एडिसन को घर पर पढ़ाया |

कई वर्ष बीत गये अब एडिसन एक बहुत बड़े विज्ञानिक बन गये थे | उन्होंने इलेक्ट्रिक बल्ब और फोनोग्राफ जैसे कई आविष्कार किए | एक दिन वह पुरानी यादों को देख रहे थे की उन्हें एक पत्र मिला | वह व्ही पत्र था जो एडिसन को स्कूल में मिला था |

उस पत्र में लिखा था-

“आपका बच्चा बोधिक तोर पर काफी कमजोर है इसलिए हम इसे स्कूल से निकाल रहे है आप इसे घर पर ही पढ़ा ले |एडिसन रात भर उस पत्र को देख कर रोते रहे | उन्होंने अपनी डायरी में लिखा –

“Thomas Alva Edison was an addled child , that by a hero mother became the genius of the century.”

माँ से बड़ा इस दुनिया में कोई नही है, माँ के जैसा प्यार करने वाला भी कोई नहीं है| इस Mother”s day को कुछ स्पेशल बनाओ और माँ को वह करके दिखाओ जो वह चाहती है|

2 Comments

Add a Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Kaise Kren © 2018